Twitter
Advertisement
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

UP Board Exam: 12वीं के Maths और Biology के पेपर लीक, क्या दोबारा देनी होगी परीक्षा

UP Board Paper Leak : प्रश्नपत्रों के लीक होने का पता चलते ही अधिकारियों में अफरातफरी मच गई. इस मामले में शिकायत दर्ज कर ली गई है.

Latest News
article-main

UP Board Paper Leak

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

उत्तर प्रदेश बोर्ड की तरफ से 10वीं-12वीं की परीक्षाएं आयोजित की जा रही हैं. 29 फ़रवरी को 12वीं के गणित और जीव विज्ञान प्रश्नपत्र परीक्षा शुरू होने के एक घंटे बाद ही सोशल मीडिया पर वायरल हो गए. जिससे पूरे प्रदेश भर में खलबली मच गई. मामले में डीआईओएस आगरा ने थाना फतेहपुर सीकरी में मुकदमा दर्ज कराया. इस मामले में आरोपी कालेज प्रबंधक को गिरफ्तार कर लिया है. 

रिपोर्ट्स के अनुसार, बृहस्पतिवार को दोपहर 2 से शाम 5ः15 बजे तक की पाली में गणित और जीव विज्ञान की परीक्षा थी. परीक्षा शुरू होने के एक घंटे बाद एक व्हाट्सएप ग्रुप पर डाले गए थे. बताया जा रहा है कि विनय चौधरी नामक व्यक्ति के द्वारा व्हाट्सएप पर आगरा के ऑल प्रींसिपल नाम के ग्रुप पर पेपर्स डाले गए. जब इस ग्रुप पर कमेंट किए गए तो तत्काल इसे डिलीट किया गया. अधिकारी यूपी बोर्ड कक्षा 12वीं के पेपर लीक होने की जांच की बात कर रहे हैं. 


 

यह भी पढ़ें- POCSO का दोषी पीड़िता के गांव में पैरोल की अवधि नहीं गुजार सकता, HC ने सुनाया फैसला 


अधिकारियों ने दिया ऐसा जवाब 

माध्यमिक शिक्षा परिषद-प्रयागराज के सचिव दिब्यकांत शुक्ल ने पेपर लीक मामले में एक प्रेस नोट शेयर किया है. उन्होंने कहा कि  आगरा के राज्य स्तरीय पर्यवेक्षक और संयुक्त शिक्षा निदेशक मुकेश अग्रवाल ने आगरा के प्रिंसिपल ग्रुप के व्हाट्स एप पर इंटरमीडिएट के दो विषयों के प्रश्नपत्र डाले जाने की जानकारी दी. द्वितीय पाली की परीक्षा के दौरान ऑल प्रिंसिपल्स आगरा नामक व्हाट्स एप ग्रुप में दोपहर बाद 3:10 बजे इंटरमीडिएट जीव विज्ञान और गणित का पेपर वायरल किया गया. मामले में जिला परीक्षा पर्यवेक्षक डा. मुकेश अग्रवाल ने जांच के निर्देश दिए हैं. वहीं, मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, पुलिस ने गांव रोझौली स्थित श्री अतर सिंह इंटर कॉलेज के प्रबंधक व प्रिंसिपल राजेेंद्र सिंह उर्फ हुड्डा, उसके बेटे कंप्यूटर ऑपरेटर विनय चौहान, अतिरिक्त केंद्र व्यवस्थापक गंभीर सिंह और स्टेटिक मजिस्ट्रेट गजेंद्र सिंह के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया.आरोपी कालेज प्रबंधक को गिरफ्तार कर लिया है. 


 

यह भी पढ़ें- हलद्वानी हिंसा: Abdul Malik का खुलासा, 'कई अन्य जगहों पर भी बने हैं अवैध मदरसे'


क्या दोबारा होगा एग्जाम 

पेपर लीक होने के बाद बच्चों के मन में सवाल है कि क्या इन दोनों विषयों की परीक्षा दोबारा होगी? इसको लेकर अभी तक कोई जानकारी सामने नहीं आई है. उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की ओर से तमाम इंतजाम होने के बाद भी पेपर लीक होने पर लोग कई तरह के सवाल उठा रहे हैं. इस बीच यूपी के पूर्व सीएम व सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने यूपी सरकार पर हमला बोला. उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार के शासनकाल में जिस तरह से प्रतियोगी परीक्षाओं से लेकर यूपी बोर्ड तक के पेपर लगातार लीक हो रहे हैं, उससे उप्र के युवाओं और बच्चों का भविष्य अंधकारमय हो गया है. अब युवा ही नहीं बल्कि जो बच्चे पहली बार वोट डालेंगे उनके बीच भी भाजपा की छवि पूरी तरह धूमिल हो चुकी है और उनके माता-पिता के बीच भी. भाजपा दरअसल परिवारवालों की विरोधी है. 

देश-दुनिया की Latest News, ख़बरों के पीछे का सच, जानकारी और अलग नज़रिया. अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और वॉट्सऐप पर.  

Advertisement

Live tv

Advertisement
Advertisement