Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Digital Banking Units: बार-बार बैंक जाने की झंझट खत्म करेगी DBU, आम आदमी को मिलेगा फायदा

डिजिटल बैंकिंग इकाइयों में लोग ऑनलाइन खाता खोलने, ऋण आवेदन, इंटरनेट बैंकिंग बिल भुगतान, पासबुक प्रिंटिंग जैसी सुविधाओं का लाभ उठा सकते हैं.

Latest News
article-main

Digital Banking

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिंदी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के कोने-कोने में बैंकिंग सेवाओं को पहुंचाने के उद्देश्य से रविवार को 75 जिलों में 75 डिजिटल बैंकिंग इकाइयों (DBUs) का शुभारंभ किया. डीबीयू की मदद से सरकार बैंकिंग सेवाओं को देश के अंतिम व्यक्ति तक किफायती दर पर पहुंचाने का प्रयास कर रही है.

डिजिटल बैंकिंग इकाइयों के इस मिशन में 11 सरकारी बैंक, 12 निजी बैंक और एक लघु वित्त बैंक भाग ले रहे हैं और देश के विभिन्न हिस्सों में 75 डिजिटल बैंकिंग इकाइयां खोली गई हैं. आपको बता दें कि चालू वित्त वर्ष के बजट में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) ने आजादी के 75 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में 75 डीबीयू खोलने की घोषणा की थी.

क्या है डीबीयू?

प्रधान मंत्री कार्यालय द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, डीबीयू एक डिजिटल बैंकिंग आउटलेट है. इसमें लोग बचत खाता खोलना, खाते का बैलेंस चेक करना, पासबुक प्रिंट करना, पैसे ट्रांसफर करना, एफडी में निवेश करना, कर्ज के लिए आवेदन करना, क्रेडिट और डेबिट कार्ड जारी करना, नामांकन, कर और बिल का भुगतान जैसी सुविधाओं का लाभ उठा सकते हैं. बयान में आगे कहा गया है कि इसके जरिए सरकार का लक्ष्य ग्राहकों को कम कीमत पर डिजिटल बैंकिंग सेवाएं मुहैया कराना है.

कैसे काम करेगा डीबीयू?

देश के दो सबसे बड़े निजी बैंक आईसीआईसीआई बैंक (ICICI Bank) और एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) ने भी डीबीयू मिशन में भाग लिया है. आईसीआईसीआई बैंक ने देहरादून, करूर, कोहिमा और पुडुचेरी में डीबीयू खोले हैं जबकि एचडीएफसी बैंक ने हरिद्वार, चंडीगढ़, फरीदाबाद और दक्षिण 24 परगना में डीबीयू खोले हैं.

आईसीआईसीआई बैंक (ICICI Bank) के डीबीयू (DBU) को दो भागों में बांटा जाएगा. पहला भाग सेल्फ सर्विस जोन होगा, जिसमें लोग एटीएम (ATM), कैश डिपॉजिट, प्रिंट पासबुक, चेक डिपॉजिट और इंटरनेट बैंकिंग की सुविधा का लाभ उठा सकेंगे. वहीं दूसरा भाग डिजिटल असिस्टेंस जोन होगा, जहां बैंक का एक प्रतिनिधि मौजूद रहेगा, जो ग्राहकों की समस्याओं का समाधान करने के साथ-साथ सेविंग अकाउंट, एफडी, होम लोन के लिए आवेदन कर सकेगा. ऑटो लोन, पर्सनल लोन और क्रेडिट कार्ड। कर भी मदद करेंगे. एचडीएफसी बैंक का डीबीयू काफी हद तक आईसीआईसीआई बैंक जैसा ही होगा.

यह भी पढ़ें:  EPFO Face Authentication: EPFO ने 73 लाख पेंशनभोगियों के लिए शुरू की नई सुविधा

 

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों Latest News पर अलग नज़रिया, अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर.

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv

पसंदीदा वीडियो