Twitter
Advertisement
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Dhanteras 2023: धनतेरस पर बाजार की छप्पर फाड़ कमाई, 50,000 करोड़ रुपये के कारोबार का अनुमान 

Dhanteras 2023 Business: धनतेरस पर इस बार बाजार की बंपर कमाई हुई है और मार्केट विशेषज्ञों ने 50,000 करोड़ से ज्यादा के कारोबार का अनुमान जताया है. सोने चांदी से लेकर होम अप्लायंसेज और बर्तनों की भी अच्छी खरीदारी की गई है. 

Dhanteras 2023: धनतेरस पर बाजार की छप्पर फाड़ कमाई, 50,000 करोड़ रुपये के कारोबार का अन�ुमान 

Dhanteras 2023

FacebookTwitterWhatsappLinkedin

डीएनए हिंदी: धनतेरस 2023 पर दिल्ली-एनसीआर समेत लगभग पूरे भारत में बाजार चहल-पहल और रौनक से भरपूर रहे. दिवाली से पहले आने वाले इस त्योहार को हिंदू धर्म की मान्यता के मुताबिक नई चीजों की खरीद के लिए बहुत शुभ माना जाता है. इस दिन सोने-चांदी के सिक्के और गहनों से लेकर लोग वाहन खरीदने, प्रॉपर्टी में निवेश और यहां तक कि बर्तन खरीदने के लिए भी बहुत शुभ मानते हैं. मार्केट विशेषज्ञों का अनुमान है कि इस बार 50,000 करोड़ से ज्यादा का कारोबार हुआ है. भारत की अर्थव्यवस्था के लिहाज से भी यह एक शुभ संकेत है. सरकार की स्थानीय कारोबारियों को बढ़ावा देने की वोकल फॉर लोकल की रणनीति का भी असर दिख रहा है और चीनी सामान की तुलना में भारतीय सामान को लोग तरजीह दे रहे हैं. 

मोदी सरकार लगातार वोकल फॉर लोकल की अपील करती रही है और धनतेरस 2023 पर भी इसकी पूरी छाप दिख रही है. चीनी सामानों को पछाड़ते हुए मेड इन इंडिया सामानों की सेल में जबरदस्त उछाल आया है. कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीसी भरतिया और राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल का कहना है कि इस बार भारतीय उत्पादकों के सामान की सेल में खूब बढ़त दिख रही है जिसका फायदा छोटे कारीगरों से लेकर उत्पादकों तक होगा. कैट अध्यक्ष ने धनतेरस के मौके पर देश भर में 50,000 करोड़ रुपये से अधिक की रिटेल सेल का अनुमान जताया है. 

यह भी पढ़ें: दिवाली पर Canara Bank ने MCLR में किया इजाफा, लोन हुए महंगे

चीन को 1 लाख करोड़ तक का नुकसान 
ट्रेड विश्लेषकों का अनुमान है कि भारतीय सामानों के लिए लोगों की दिलचस्पी बढ़ी है और इससे सबसे बड़ा नुकसान चीन को हो रहा है. डिजाइनर लाइट्स से लेकर सजावटी सामाना और दूसरी चीजों की खरीदारी में आम लोग खास तौर पर चीनी सामान का बहिष्कार कर रहे हैं. सिर्फ दिवाली के मौके पर होने वाली बिक्री के आधार पर देखें तो इस बार चीन को एक लाख करोड़ तक के नुकसान का अनुमान है. धनतेरस के मौके पर लोग सोना-चांदी के अलावा होम अप्लायंसेज भी बड़ी मात्रा में खरीदते हैं. 

सोने -चांदी में निवेश को लेकर उत्साह बरकरार 
अलग-अलग शहरों से आ रही रिपोर्ट्स के मुताबिक, लोगों का सोने और चांदी में निवेश का उत्साह बरकरार है. धनतेरस के मौके पर सोना-चांदी से लेकर दूसरे बहुमूल्य रत्न खरीदना शुभ माना जाता है. सोने-चांदी के सिक्के भी काफी मात्रा में खरीदे गए हैं. इसके अलावा, चांदी के शुभ माने जाने लक्ष्मी-गणेश की मूर्ति, कछुआ और हाथी की भी खूब खरीदारी हुई है. लैपटॉप, मोबाइल, होम अप्लायंसेज, टीवी, फ्रिज जैसी चीजों की भी बंपर खरीदारी हुई है. 

यह भी पढ़ें: सरकार ने दिया दिवाली का गिफ्ट, कर्मचारियों के खाते में आया PF का ब्याज

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों Latest News पर अलग नज़रिया, अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर.

Advertisement

Live tv

Advertisement

पसंदीदा वीडियो

Advertisement