Twitter
  • LATEST
  • WEBSTORY
  • TRENDING
  • PHOTOS
  • ENTERTAINMENT

Gautam Adani: दुनिया के तीसरे सबसे अमीर अरबपति और उनकी 10 सबसे महंगी प्रॉपर्टी

Gautam Adani: ब्लूमबर्ग बिलियनेयर्स इंडेक्स के अनुसार गौतम अडानी दुनिया के तीसरे सबसे अमीर पहले एशियाई बन गए हैं. उनकी कंपनी की बंदरगाह, एनर्जी, ग्रीन एनर्जी और अन्य उद्योगों में महत्वपूर्ण उपस्थिति है.

article-main
FacebookTwitterWhatsappLinkedin

TRENDING NOW

डीएनए हिंदी: कॉलेज छोडऩे से लेकर अपना डायमंड बिजनेस शुरू करने तक, अडानी एंटरप्राइज के मालिक गौतम अडानी (Gautam Adani) का सफर सभी के लिए एक प्रेरणा है. 137 अरब डॉलर की कुल संपत्ति के साथ एक आम आदमी से एक बिजनेस टाइकून तक की उनकी यात्रा के अलावा, गौतम अडानी की प्रमुख संपत्तियां (Gautam Adani Assets) भी सभी के लिए आकर्षण का केंद्र बनी हुई हैं. ब्लूमबर्ग बिलियनेयर्स इंडेक्स के अनुसार गौतम अडानी दुनिया के तीसरे सबसे अमीर (World 3rd Richest Billionaire Gautam Adani) पहले एशियाई बन गए हैं. उनकी कंपनी की बंदरगाह, एनर्जी, ग्रीन एनर्जी और अन्य उद्योगों में महत्वपूर्ण उपस्थिति है. आइए आपको भी बताते हैं कि भारत ही एशिया के सबसे अमीर अरबपति के पास कौन-कौन से सबसे महंगे असेट्स हैं. 

दिल्ली में है 400 करोड़ का घर
2020 में, गौतम अडानी ने लुटियंस दिल्ली में एक 400 करोड़ रुपये की हवेली खरीदी. 3.4 एकड़ भूमि में फैली इस संपत्ति को ग्रुप द्वारा सबसे महंगी बोली में से एक माना जाता है. गौतम अडानी को 265 करोड़ रुपये का एडवांस पेमेंट करना पड़ा और बकाया 135 करोड़ रुपये वैधानिक खर्च के रूप में. इससे संपत्ति का मूल्य 400 करोड़ रुपये हो गया. इस हवेली के अलावा, अडानी का गुडग़ांव में एक बंगला भी है.

अहमदाबाद में उनका एक घर भी है. यह वह जगह है जहां व्वह खुद और उनका परिवार रहता है. यह अहमदाबाद की एक पॉश कॉलोनी में स्थित है. हवेली के बारे में अधिक जानकारी उपलब्ध नहीं है क्योंकि गौतम अडानी अपनी संपत्ति और निजी संपत्ति पर गोपनीयता बनाए रखना पसंद करते हैं. हवेली को चारों ओर बड़े पेड़ों से सजाया गया है. यह खुले सुंदर प्रांगणों से भी घिरा हुआ है. इस घर में गौतम अडानी अपनी पत्नी प्रीति अडानी, बेटे करण और जीत अडानी और बहू के साथ रहते हैं.

यह भी पढ़ेंः- दुनिया के तीसरे सबसे अमीर व्यक्ति बनने वाले पहले एशियाई बने Gautam Adani

निजी जेट और हेलीकॉप्टर
अगर गौतम अडानी के उपक्रमों और उद्योग जगत से ज्यादा कुछ ऐसा है जो खबर बनाता है, तो वह है उनके लग्जरी प्राइवेट जेट्स, कारों और हेलीकॉप्टरों की लिस्ट. कारोबारी मुख्य रूप से अपने प्राइवेट जेट विमानों में यात्रा करता है, जिसमें बॉम्बार्डियर, एक बीचक्राफ्ट और एक हॉकर शामिल हैं. इन भव्य जेट विमानों की क्षमता लगभग 100 यात्रियों की है. विशेष रूप से, बॉम्बार्डियर एक बार में 8 यात्रियों को ले जा सकता है. भव्य और सुंदर बीचक्राफ्ट अपनी विलासिता से समझौता किए बिना एक बार में 37 यात्रियों को समायोजित कर सकता है. तीसरा विमान हॉकर एक बार में 50 यात्रियों को ले जा सकता है. कुछ रिपोर्टों के अनुसार, उनके सबसे सस्ते निजी जेट की कीमत भारत में लगभग 15.2 करोड़ रुपये थी. तीन आलीशान जेट विमानों के अलावा, अडानी एंटरप्राइज के मालिक के पास अपनी छोटी यात्राओं के लिए तीन हेलीकॉप्टर भी हैं. उन्हें अपने अगस्ता वेस्टलैंड एडब्ल्यू139 हेलीकॉप्टर में सबसे ज्यादा देखा जाता है. दो इंजनों द्वारा संचालित, हेलीकॉप्टर 15 लोगों को लेकर उड़ान भर सकता है और 310 किमी प्रति घंटे की गति से यात्रा कर सकता है. उनके अन्य दो हेलीकॉप्टरों के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है.

सुपर लग्जरी कारों का शानदार कलेक्शन
हेलीकॉप्टर और जेट की तुलना में अडानी के पास लग्जरी कारों की भी लंबी लिस्ट है. 3.5 करोड़ रुपये की रेड फेरारी और एक शानदार बीएमडब्ल्यू 7 (लगभग 1-3 करोड़ रुपये की लागत) उनकी दो सबसे लोकप्रिय और व्यापक रूप से देखी जाने वाली कारें हैं.

शिप 
लगभग हर क्षेत्र में अपनी विशाल उपस्थिति के कारण, अडानी एंटरप्राइज के पास फ्यूल और अन्य सामग्रियों के परिवहन को सुनिश्चित करने के लिए लगभग 17 जहाज हैं. खास बात तो ये है कि 2018 में गौतम अडानी ने अपने दो नए खरीदे गए जहाजों का नाम अपनी भतीजी के नाम पर रखे हैं. दो जहाजों, एम/डब्ल्यू वंशी और एम/डब्ल्यू राही का निर्माण दक्षिण कोरिया के हांजिन हेवी इंडस्ट्रीज एंड कंस्ट्रक्शन कॉर्पोरेशन द्वारा किया गया था. गौरतलब है कि अडानी एंटरप्राइज भारत के प्रमुख कोयला आयातकों में से एक है. ऐसे जहाजों को खरीदने से कंपनी को अपने लॉजिस्टिक्स इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने में मदद मिलती है.

यह भी पढ़ेंः- Multibagger Stock: 9 रुपये शेयर ने निवेशकों को बना दिया करीब 16 करोड़पति का मालिक, जानें कंपनी क्या करती है काम

हवाई अड्डे 
गौतम अडानी भारत के कुछ सबसे महत्वपूर्ण हवाई अड्डों में एक प्रमुख हितधारक हैं. 2021 में, नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह (सेवानिवृत्त) ने बताया कि सार्वजनिक निजी भागीदारी मॉडल के तहत पट्टे पर दिए गए आठ हवाई अड्डों में से, गौतम अडानी भारत में कुल सात हवाई अड्डों के मालिक हैं. अडानी एंटरप्राइज लिमिटेड की मुंबई, अहमदाबाद, जयपुर, लखनऊ, गुवाहाटी, तिरुवनंतपुरम और मंगलुरु हवाई अड्डों में हिस्सेदारी है. कंपनी ने 2019 में एयरपोर्ट सेक्टर में प्रवेश किया, लेकिन अडानी एंटरप्राइज को 50 साल के लिए सभी छह हवाई अड्डों के संचालन का अधिकार मिलने में केवल तीन साल लगे. 

ऑस्ट्रेलियाई कोयले की खान
अडानी ऑस्ट्रेलिया की सबसे बड़ी कोयला खदानों में से एक कारमाइकल खदान का मालिक है और उसका संचालन भी करता है. रिपोट्र्स के मुताबिक, ऑस्ट्रेलियाई कोयला खदान अगले तीन दशकों तक सालाना दर से एक करोड़ टन थर्मल कोयले का आयात कर सकती है. यह परियोजना 2010 में प्रस्तावित की गई थी, लेकिन यह जीवाश्म ईंधन के प्रतिरोध के एक हिस्से के रूप में दुनिया भर के पर्यावरणविदों के कानूनी तर्कों और विरोध में उलझ गई. सौदे के खिलाफ कार्रवाई की तीखी आलोचना और वैश्विक आह्वान के बीच, अडानी ने 2021 में इस खदान से उच्च गुणवत्ता वाले कोयले का निर्यात शुरू किया.

यह भी पढ़ेंः- Gold and Silver Price: सोना और चांदी में गिरावट जारी, यहां जानें कितने कम हुए दाम 

बंदरगाह
अडानी पोट्र्स एंड लॉजिस्टिक्स के मुताबिक, कंपनी के पास पूरे भारत में कुल 13 पोर्ट हैं. इससे इसकी पोर्ट ऑपरेटिंग कंपनी, अडानी पोट्र्स एंड स्पेशल इकोनॉमिक जोन लिमिटेड, भारत की सबसे बड़ी निजी पोर्ट ऑपरेटिंग कंपनी बन गई है. देश की बंदरगाह क्षमता में कंपनी का 23 फीसदीी हिस्सा है, जो भारत के व्यापार और रसद बुनियादी ढांचे पर अडानी के प्रभाव को दर्शाता है. इतना ही नहीं, कंपनी के पास एबोट प्वाइंट टर्मिनल पोर्ट भी है, जिसे 2011 में क्वींसलैंड सरकार से 99 साल की लीज पर हासिल किया गया था.

ग्रीन एनर्जी 
केवल जीवाश्म ईंधन तक सीमित नहीं होने के कारण, अडानी अपने विभिन्न उपक्रमों के साथ अक्षय ऊर्जा का एक प्रमुख उत्पादक बनने का लक्ष्य लेकर चल रही है. अब तक, अडानी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड को भारत की सबसे बड़ी नवीकरणीय कंपनियों में से एक होने का दर्जा प्राप्त है. फिलहाल इसके पास 20,434 मेगावाट का प्रोजेक्ट पोर्टफोलियो है. कंपनी पूरे भारत में सौर और पवन कृषि परियोजनाओं में भारी निवेश करती है.

यह भी पढ़ेंः- Reliance Retail and Jio IPO को लेकर मुकेश अंबानी ने क्या दी जानकारी

Reliance Retail and Jio IPO को लेकर मुकेश अंबानी ने क्या दी जानकारी
https://www.dnaindia.com/hindi/business/news-what-information-did-mukesh-ambani-give-about-reliance-retail-and-jio-ipo-4047917

भारत में गैस की खोज में अडानी 
अब तक अडानी की प्रमुख संपत्तियों और कंपनियों ने भारत को ऊर्जा के मामले में आत्मनिर्भर राष्ट्र बनाने के कंपनी के उद्देश्य के बारे में एक विचार दिया होगा. वेलस्पन एंटरप्राइजेज लिमिटेड के साथ इसका संयुक्त उद्यम भारत में प्राकृतिक गैस के भंडार की खोज और विकास के लिए काम कर रहा है. 2021 में, कंपनी ने मुंबई तट के पास प्राकृतिक गैस के भंडार की खोज करने का दावा किया. 714.6 वर्ग किलोमीटर चैड़ा ब्लॉक मुंबई अपतटीय बेसिन के ताप्ती-दमन सेक्टर में स्थित है.

फ्रेंचाइजी क्रिकेट में अडानी का प्रयास
यह कंपनी की एक महत्वपूर्ण संपत्ति ना हो, लेकिन फ्रैंचाइजी क्रिकेट में अडानी की उपस्थिति को बढ़ाने की क्षमता रखती है. अडानी ग्रुप की अडानी स्पोट्र्सलाइन ने फ्रैंचाइजी क्रिकेट बी में अपना पहला निवेश मई 2022 में यूएई के प्रमुख टी20 लीग में एक फ्रैंचाइजी के स्वामित्व और संचालन के अधिकार प्राप्त करने के लिए किया था. दो महीने के बाद, कंपनी ने गुजरात जायंट्स, एक लीजेंड्स लीग क्रिकेट टीम का अधिग्रहण करके अपना दूसरा निवेश किया. लीजेंड्स लीग क्रिकेट एक वैश्विक टी20 क्रिकेट चैंपियनशिप है जिसमें हाल ही में सेवानिवृत्त अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटरों को प्रमुखता से शामिल किया गया है जो अभी भी प्रतिस्पर्धी क्रिकेट खेलते हैं. पहला सीजन जनवरी 2022 में ओमान में तीन टीमों के बीच आयोजित किया गया था.

देश-दुनिया की ताज़ा खबरों Latest News पर अलग नज़रिया, अब हिंदी में Hindi News पढ़ने के लिए फ़ॉलो करें डीएनए हिंदी को गूगलफ़ेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर.

देश और दुनिया की ख़बर, ख़बर के पीछे का सच, सभी जानकारी लीजिए अपने वॉट्सऐप पर-  DNA को फॉलो कीजिए

Live tv